किसानों के साथी बने ग्रामोफोन की सफलता की कहानी

इंदौर  मध्यप्रदेश में किसान तकनीकी सहायताओं की बदौलत कम लागत में अच्छी फसल उगाने में भी कामयाब हो रहे हैं। इसी प्रकार तकनीकी रूप से किसानों को सशक्त बनाने में ग्रामोफोन जैसी मोबाइल एप्लीकेशंस ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं। देपालपुर के रहने वाले किसान ’बलराम जी दोड़’ बताते हैं कि कैसे उन्होंने ग्रामोफोन एप के इस्तेमाल के बाद फसल के उत्पादन में बढ़ोतरी दर्ज की और कैसे उन्हें पहले के मुकाबले अब ज्यादा फायदा हो रहा हैं। लहसुन का उत्पादन करने वाले बलराम जी बताते हैं कि ग्रामोफोन के इस्तेमाल के बाद उन्होंने पिछले साल की तुलना में इस साल 40 फीसदी अधिक लहसुन की पैदावार की। बकौल बलराम , “मैंने लगभग 6 बैग लहसुन आधे एकड़ में उगायाजिसके परिणामस्वरूप मुझे लगभग 81 बैग लहसुन प्राप्त हुआ। यह पिछले साल की तुलना में काफी अधिक हैं। मैं इसके लिए ग्रामोफोन की टीम की तरफ से दिए गए सुझाव व संसाधनों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूंक्योंकि इससे पहले लहसुन की पैदावार काफी कम होती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *