ग्रामीण भारत में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रहे हैं टेक्‍नोसर्व एवं केलॉग 

 अंतर्राष्ट्रीय विकास गैर-लाभकारी संगठन टेक्नोसर्व और केलॉग कंपनी ने भारत में हजारों छोटे मक्का और गेहूं किसानों – विशेषकर महिलाओं – के लिए क्लाइमेट-स्मार्ट एग्रीकल्चर में उनके कौशल को बढ़ाने के लिए एक प्रशिक्षण कार्यक्रम के विस्तार की घोषणा की। इससे इन किसानों की आमदनी में सुधार आयेगा।

यह काम केलॉग के ग्लोबल सिग्नेचर कॉज़ प्लेटफॉर्म, ब्रेकफास्ट फॉर बेटर डेज़™ का समर्थन करता है, जहां संगठन ने वर्ष 2025 तक आधा मिलियन किसानों की मदद करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की है, यह आजीविका में सुधार के लिए क्‍लाइमेट-स्मार्ट एग्रीकल्‍चर तकनीकों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। जैसा कि अनुसंधान और टेक्नोसर्व के पिछले अनुभव से पता चलता है, कि महिलाओं के लिए अवसरों में निवेश करने से घरेलू स्तर पर और इसके बाद भी अतिरिक्त लाभ होता है; इस प्रकार यह पहल महिलाओं को शामिल करने को प्राथमिकता देती है। सीएसए पर महिला किसानों को प्रशिक्षित करने के अलावा, टेक्नोसर्व और केलोग ने ऑर्गेनिक किचन गार्डनिंग में भी महिलाओं को प्रशिक्षित करके, हिस्‍सा लेने वाले परिवारों के न्‍यूट्रीशनल इनटेक को बढ़ाने के साथ ही कृषि अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भूमिका बढ़ाने के लिए एक अवसर की पहचान की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *