जनता को ठगने और सरकारी जमीन बेचने वाले भूमाफिया माहेश्वरी और अग्रवाल को भेजा जेल

बिके नही प्लाट तो लोन लेने की कोशिश भी की

इंदौर। (भुवन तोषनीवाल) जेल में बंद भू-माफ़िया अरविंद वांजारी के साथी शैलेष माहेश्वरी को महू तहसील के सिमरोल थाने में दर्ज अपराध में और तुलसी नगर के नाम पर कई एकड़ सरकारी जमीन धोखे से फर्जी दस्तावेज बना कर बेचने के अपराध में रमेश चन्द्र उर्फ़ राम अग्रवाल को लसुडिया पुलिस ने गिरफ़्तार किया है ।दोनो के मामलों में पत्रकार-आरटीआई कार्यकर्ता राजेन्द्र के.गुप्ता की शिकायतों पर कार्यवाहियाँ की जा रही है ।तुलसी नगर के मामले में दर्ज एफआईआर में पुलिस ने संस्था के पदाधिकारी रहे 25 व्यक्तियों जिसमें महिला भी शामिल है को आरोपी बनाया है ।दोनो मामलों में एफआईआर दर्ज हुए दो साल हो गए है ।

इंदौर जिले की कई तहसील क्षेत्रो में गाँव के किसानों की जमीन बिना पूर्ण भुगतान किये हथियाकर उन जमीनों पर अवैधानिक तरीको से अवैध कॉलोनी काटकर जनता को लूटने वाले दृष्टि देवकान प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर शैलेष माहेश्वरी(बिसानी) और इनके पार्टनरों के विरुद्ध पत्रकार आरटीआई कार्यकर्ता राजेन्द्र के गुप्ता के द्वारा वर्ष 2016 – 17 से शिकायतें की जा रही है।गुप्ता की शिकायत पर माहेश्वरी के अलग-अलग प्रोजेक्ट पर भारी अर्थदंड सहित अन्य कार्यवाहियां भी की गई है। तुलसी नगर को बसाने वाली संस्था माँ सरस्वती गृह निर्माण के अध्यक्ष शिव अग्रवाल सही 25 पदाधिकारियों के ख़िलाफ भी गुप्ता की शिकायतों पर कार्यवाही की गई है ।तुलसी नगर के नाम पर कई एकड़ सरकारी जमीन ,नाले तक बेच दिए । तुलसी नगर के मामले में लसूडिया थाने में अपराध क्रमांक 0186/2016 दर्ज है । रमेश अग्रवाल को भी लसुडिया पुलिस ने गिरफ़्तार किया है शेष आरोपियों की गिरफ़्तारी बाक़ी है ।

भूमाफ़िया शैलेश माहेश्वरी ने जेल में बंद भूमाफिया अरविंद वंजारी के साथ भी फर्जीवाड़ा कर अवैध कॉलोनियों में धोखे से प्लाट बेचकर राशि हड़प ली और लोगो को विकसित प्लाट नही दिए।ताजा मामला यह है कि सिमरोल पुलिस ने दिनांक 9 जनवरी 2019 को शैलेष माहेश्वरी को गिरफ्तार किया और कोर्ट से 2 दिन की रिमांड पर लिया।दिनांक 11 जनवरी 2019 को पुलिस ने माहेश्वरी को कोर्ट में पेश किया,कोर्ट के आदेश पर शैलेष माहेश्वरी को महू जेल भेज दिया गया।शैलेष माहेश्वरी ने जिस भूमाफिया अरविंद वंजारी के लिए काम कर लोगो को ठगा था वो पहले से ही जेल में बंद है।

माहेश्वरी के साथ श्रीमती कामिनी पति शैलेष माहेश्वरी और वीरेन्द्र माहेश्वरी के विरूद्ध भी शिकायते की गई है,उन शिकायतों पर भी जांच व कार्यवाही की जा रही है।सिमरोल थाना प्रभारी आर के नैन ने बताया कि माहेश्वरी ने वंजारी के लिए काम करते हुए पत्राचार किया एवं लोगो को झूठा प्रलोभन देकर ठगा है जो अनुसंधान में जप्त रिकॉर्ड से प्रमाणित हुआ है।

धोखे से मोटा लोन लेने की कोशिश भी की

दृष्टि देवकान प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर शैलेष माहेश्वरी और इनके परिवार के सदस्यों ने जो फर्म में भागीदार है के द्वारा पिपलिया लोहार की जमीन पर रो हाउस निर्माण के नाम पर मोटा लोन लेने की कोशिश भी की।लोन लेने के लिए माहेश्वरी ने ग्रीन लाइफ सिटी नाम की कॉलोनी के भूखंड बंधक रखकर 250 लाख का लोन लेने के लिए आवेदन दिया था।जिस पर गुप्ता के द्वारा आपत्ति दर्ज करवाई गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *