काव्य ग़ज़ल

“ अब तक की सबसे बड़ी खबर ”

करोना के जन्म के पहले भी हम न्यूज चैनलों से दूर ही रहते थे तथा करोना के जन्म के बाद में भी हम न्यूज चैनलों से दूर ही रहते हैं । वैसे न्यूज चैनलों से ही क्यों हम टी वी धारावाहिकों से भी दूर ही रहते हैं । लेकिन आज कुछ ऐसा हुआ की घर के सदस्य किसी न किसी कारण से घर से बाहर गये थे और हम घर पर निपट अकेले थे सो पहली बार टीवी का रिमोट हमारे हाथ में था और हम अपनी मर्जी के मालिक थे अपनी पसंद (?) का कुछ भी देखने के लिये ।

अब धारावाहिकों से तो हमारा कोई रिश्ता है नहीं फिर भी हमने हिन्दी का एक चर्चित धारावाहिक लगाया । उस धारावाहिक के कलाकार रात सोते समय तथा सुबह बिस्तर से उठते हुए भी जिस तरह के महंगे कपड़े पहने हुए थे वैसे तो शायद हमने अपनी शादी में भी नहीं पहने होगें । फिर उक्त धारावाहिक की सास-बहू, देरानी-जिठानी के आपसी दाँव-पेंच और फिल्मी वैंप को भी मात देने वाले तेवर देखकर तथा हजार-बारह सौ करोड़ के लेन-देन की बातों से हमारा दिल दहशत से भर गया क्योंकि अपनी कुछ हजारों की तनख्वाह हम महीने की पच्चीस तारीख को खत्म करने वाले समाज से आते हैं सो हमने तत्काल चैनल बदल दिया लेकिन अगले चैनल तथा उसके अगले चैनल यानि हरेक चैनल के हरेक धारावाहिक में कमोबेश वहीं सब कुछ देखने को मिल रहा था ।

हमने फिल्म देखने की सोची तब साउथ की डब फिल्मों बहार दिखाई दी जिसमें हीरो अकेले निहत्थे पचासों डंडे-तलवारों से लेस गुंडों की पिटाई कर रहे थे तथा गॉगल हवा में फैंक कर स्टाईल से पहन रहे थे व सिगरेट भी अदा से फूंक रहे थे । चंद मिनटों में ही हम इनसे भी उकता गये और अगले चैनल का रूख किया जहाँ हीरा ठाकुर बने महानायक को जहरीली खीर पिलाई जा रही थी (फिल्म तथा चैनल आप पहचान ही गये होंगे) अब सब कुछ सहनशक्ती से बाहर हो रहा था सो इन फिल्मी चैनलों की जगह हमने समाचार सुनने का मानस बनाया ।

हमने पहला न्यूज चैनल लगाया तथा पंधरा मिनट विज्ञापन देखते रहे इस बीच दो बार ढैंटनेन के साथ समाचारों की सुर्खियां देखने को मिली जिसमें करोना से आजतक हुई मौतों के आँकड़े व तीन फिल्मी नायिकाओं को सीबीआई के समन के समाचार बताये जा रहे थे । पंधरा मिनट तक हमारे धैर्य की परिक्षा लेने के बाद, समाचार वाचक महोदय सामने आये तथा फिल्मी दुनिया के एक दिवंगत नायक ने आत्महत्या की थी या उनकी हत्या हुई थी इस रहस्य को उजागर करने लगे । उनके तेवर देखकर हमें लगने लगा काश यह सीआईडी या सीबीआई में होते तो कितने अनसुलझे मामले अनसुलझे नहीं रह जाते । इसके बाद जो सेगमेंट शुरू हुआ उसमें सरकार की तारीफों के पुल बांधे जा रहे थे जाहिर है कि ये भक्तीभाव से भरा चैनल था । हमने अगले न्यूज चैनल का रूख किया जहाँ पर सरकार के निर्णयों की आलोचना की जा रही थी हम तत्काल समझ गये की ये स्पूनों का चैनल है सो हम किसी निष्पक्ष चैनल की तलाश में और आगे बढ़े ।

हम अगले चैनल पर पहुँचे ही थे कि हमारी तरफ ऊठी हुई उंगली के साथ एक चीखती आवाज सुनाई दी भारत जानना चाहता है कि सामने बैठे व्यक्ती ने कुछ बोलना चाहा मगर उनकी सुने बिना ही वे फिर चिल्लाए, बोलो चुप क्यों हो भारत जानना चाहता है बोलो, बोलो ।

  उनकी चिल्ला-चोट ने चैनल पर मौजूद प्रतिभागीयों का क्या हुआ न जाने लेकिन हमारी घिघ्घी बंध गई, हम डर गये, इतनी ऊंची आवाज में तो हमारी, अजी सुनती हो या हमारे बॉस भी नाराज होने पर बात नहीं करते । हम पसीना पसीना हो गए और हमने डरते डरते अगला चैनल लगाया जहाँ अब तक की सबसे बड़ी खबर बताई जा रहा थी ।

हाँ, ये ठीक है हमने सोचा क्योंकि अब तक की सबसे ताजा, सबसे बड़ी खबर हमारे साथ शेयर की जा रही थी सो हम उस ऩ्यूज चैनल पर चिपक गये । लेकिन अब तक की सबसे बड़ी, सबसे ताजा खबर सुनाने से पहले हमें फिर पंधरा मिनट के विज्ञापन झिलवाये गये और अंतत वाचक महोदय उपस्थित हुए तथा अब तक की बड़ी खबर सुनाते हुए बोले, ये खबर सबसे पहले हमारे चैनल पर आपके लिये एक्सक्लूजीव पेश की जा रही है, तो अब तक की सबसे बड़ी खबर देखिये कि कल सीबीआई में अपनी गवाही देने जा रही सुविख्यात नायिका लाल रंग की सैंडल पहन कर जायेंगी ।

अब तक की सबसे बड़ी खबर सुन लेने के बाद अब कहने सुनने को कुछ बचा नहीं था सो हमने हताशा में टीवी का रिमोट अपने ही सिर पर दे मारा ।

राजेन्द्र वामन काटदरे

                                                                                                   202, सी-3, स्वास्तिक पार्क

                                                                                                     आजाद नगर, कोलशेत

                                                                                                                ठाणे वेस्ट 400 607

                                                                                                      मो. 96992 69849

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *