काव्य ग़ज़ल

कोटि-कोटि बापू तुम्हें प्रणाम है…

गाँधी इस युग के नायक थे,

सत्य अहिंसा के गायक थे।

सबका मन वो हर लेते थे,

सबको अपना कर लेते थे।

संस्कृति के वो वाहक थे,

गाँधी सच्चे जननायक थे।

तुमने शान्ति का पाठ पढ़ाया,

सबको पथ सही दिखलाया।

तुमने हमें आज़ादी दिलाई,

स्वावलम्बन की राह सिखाई।

रामराज का सपना दिखलाया,

जीवन का आदर्श सिखाया।

पूरे जग में आज तुम्हारा नाम है,

कोटि-कोटि बापू तुम्हें प्रणाम है।

कोटि-कोटि बापू तुम्हें प्रणाम है…।।

— अगस्त्य औरव

सुपुत्र-डॉ. सारिका मुकेश

(तमिलनाडू)

मोबाइल:  81241 63491     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *